महज 41 सेकंड में बुक हुई स्पेशल Rajdhani Train की सभी सीट, Railway Board ने दिए जांच के आदेश

Railway-Board

Corona माहमारी के चलते पूरे देश में 23 मार्च से lockdown लगा हुआ है। ऐसे में लोगों को एक  राज्य से दूसरे राज्य में जाने की मनाही थी और कोई भी गाड़ी को कहीं भी जाने की अनुमति नहीं थी। सभी  यातायात के संसाधन 22 मार्च से ही बंद हैं। लेकिन कुछ लोग और मजदूर lockdown लगने के बाद से ही अपने घर से दूर हैं। ऐसे में वो लोग काफी समय से पैदल यात्रा करके ही अपने घर जा रहे हैं। केंद्र सरकार ने इस दिशा में एक बड़ा निर्णय लिया और फंसे हुए लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए विशेष Rajdhani Express सेवा शरू की। 

लेकिन इस समय Rajdhani Express यानी रेल विभाग काफी दबाव में है, क्योंकि यात्रियों की संख्या ज्यादा है और रेल की संख्या सीमित है। रेलवे के आंकड़े बताते हैं कि कि सभी सीटें बड़ी तेजी से ऑनलाइन बुक हो रही हैं। महज 36 से 45 सेकंड के अंदर Rajdhani Express की सभी सीट बुक हो जाती है। हाल ही में भुवनेश्वर, पटना और हावड़ा Rajdhani Express की सभी सीटें महज 41 सेकंड में बुक हो गईं। Railway board को जब इस बात की सुचना मिली तो उन्होंने फ़ौरन जांच के आदेश जारी कर दिए।

Railway Security Force के अधिकारी तो इस बात से हैरान है कि आखिर 45 सेकंड से कम समय में ट्रेन बुक कैसे हो रही है। रेलवे अधिकारियों का कहना ​​है कि एक फॉर्म को भरने में इतना ही समय लगता है। उनके मुताबिक़ हो सकता है कि यह टिकट सौदेबाजी हो सकती है और इसकी सुचना Railway board को भी दी जा चुकी है। Railway board ने RPF officers को पूरे मामले के लिए जांच के आदेश दिए गए हैं ताकि यह बात सामने आ सके कि टिकट बुक करने वाले असल में घर जाने वाले लोग है या नहीं।

Railway-Security-Force

दिल्ली से पटना की यात्रा करने के लिए, अंकेश ने सुबह 8 बजे पटना स्पेशल राजधानी 02310 के लिए एसी 3 की online ticket booking शुरू की थी। एक मिनट में ही Waiting / Regret दिखा दिया जिससे कोई टिकट नहीं बन सका। Sandeep Agerwal नाम के एक व्यक्ति ने दिल्ली से कानपुर आने के लिए रेल बुकिंग करनी थी। जब उन्होंने IRCTC की वेबसाइट पर लॉगिन किया और 02824 एक्सप्रेस में टिकट बनाने की कोशिश की। इसमें उनके टिकट बनने में लगभग एक मिनट का वक्त लगा लेकिन यह टिकट 24 मई की थी और वो भी 34 वेटिंग के साथ। दूसरा कोई ऑप्शन न होने के उन्होंने waiting का टिकट बनाया यह सोचकर की शायद यह कन्फर्म हो जाए। लेकिन अब तक स्पेशल राजधानी के टिकट बुकिंग का मामला Railway board तक पहुंच गया था। Railway board ने टिकटों के पीछे कोई गैंग तो नहीं यह पता लगाने के आदेश दिए। इस बात की जांच के बाद मामला 2 दिन में साफ़ हो जाएगा क्योंकि रेलवे ने RPF से दो दिन में मामले की रिपोर्ट मांगी है।

Railway-Board-IRCTC

एक तरह जहाँ Railway board टिकट बुकिंग धांधली की जांच कर रहा है वहीं दूसरी ओर Travel agent भी मौके का फायदा उठाने में लगे हुए हैं। वो लोगों से टिकट का दोगुना पैसा ले रहे हैं। मधु पांडेय की बेटी श्रद्धा ने एक ट्रेवल एजेंट से बात कि ताकि उन्हें कानपुर से भुवनेश्वर का ऑनलाइन टिकट मिल जाए। लेकिन टिकट बनवाने के लिए Travel agent ने उनसे 5000 मांगे। हालंकि कानपुर से थर्ड एसी के टिकट की कीमत केवल 2500 रुपए है। तो इस तरह से लोग इस  संकट की घडी में लोगों से खूब पैसा ऐंठ रहे हैं जो की गलत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *