भारत सरकार ने TikTok सहित 59 ऐप्स को किया बैन, डेटा सुरक्षा और भारतीयों की निजता को ध्यान में रखकर लिया गया फैसला

government-of-india

TikTok Ban in India: भारत सरकार ने सोमवार को देश में सभी 59 Chinese App पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिसमें TikTok, Share It और UC Browser जैसी बहुत सी लोकप्रिय ऐप्स शामिल हैं , इन ऐप्स के बारे में कहा जाता है कि वे देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए आगे जाने वाली ऐप्स थी।

प्रतिबंध, जो चीनी सैनिकों के साथ लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ वर्तमान गतिरोध की पृष्ठभूमि में आता है, में we chat और Bigo live भी शामिल हैं।

जिन ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया गया है उनमें हेलो, लाइक, कैम स्कैनर, वीगो वीडियो, एमआई वीडियो कॉल, श्याओमी, क्लैश ऑफ किंग्स के साथ-साथ ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्लब फैक्ट्री और शीन भी शामिल हैं। यह चीनी प्रौद्योगिकी कंपनियों के खिलाफ उठाया गया बहुत बड़ा कदम है।

Ministry of Information Technology ने एक बयान में कहा कि उसे विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें मिली हैं, जिनमें एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल एप्लिकेशन के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्टें हैं, जो अनधिकृत तरीके से उपयोगकर्ताओं के डेटा को “चोरी और चुपके से संचारित” कर रहे हैं जिनमें भारत के बाहर के काफी स्थान हैं।

TikTok Ban in India उन्होंने अपने ब्यान में आगे कहा कि यह बहुत ही गहन चिंता का विषय है। कोई हमारे भारत के लोगों के डेटा को इकठ्ठा करके कहीं और किसी और देश में स्थांतरित करे,  तो राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा के लिए खतरा उत्त्पन होता है। शत्रु इस तरह से इस डेटा का काफी फायेदा भी उठाते हैं। इसलिए आपत्कालीन बचाव के तरीकों को अपनाना भी बेहद जरुरी है।  इलसिए भारत सरकार ने यह बड़ा कदम उठाया है ताकि देश की प्रभुता और अंखण्डता को कोई ठेस न पहुंचे।

यहां प्रतिबंध लगाने के लिए सरकार ने और भी बहुत से कारण दिए हैं:

  • डेटा सुरक्षा और 130 करोड़ भारतीयों की निजता की सुरक्षा की चिंता जताते हुए यह फैसला लिया गया है।
  • भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र, गृह मंत्रालय ने भी इन दुर्भावनापूर्ण ऐप्स को अवरुद्ध करने के लिए संपूर्ण अनुशंसाएँ भेजी हैं।
  • संसद के बाहर और अंदर दोनों जगह विभिन्न जन प्रतिनिधियों द्वारा चिंता व्यक्त की गई है, और ऐसे ऐप्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए एक मजबूत सहमति बनी है।
  • प्रतिबंध से भारतीय साइबर स्पेस की सुरक्षा और संप्रभुता सुनिश्चित होगी और करोड़ों मोबाइल और इंटरनेट यूजर के हितों की रक्षा होगी

जबकि आज आदेश जारी किए गए हैं, ऐप के लिए कुछ समय लग सकता है और उन पर कार्रवाई करने के लिए स्टोर चला सकते हैं। सरकार का आदेश न केवल नए डाउनलोड पर लागू होगा बल्कि उन पहले से डाउनलोड किए गए ऐप को भी कवर किया जाएगा जिन्हें प्रतिबंधित किया गया है। जो लोग पहले से इन ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं, वे उनका उपयोग नहीं कर पाएंगे क्योंकि वे सभी निष्क्रिय हो जाएंगे।

सोमवार को जारी किए गए आदेश के अनुसार ज्यादतर ऐप्स पर रात 12 बजे से ही प्रतिबंध लग गया था। यह आदेश न केवल आगे डाउनलोड की जाने वाली ऐप्स पर नहीं बल्कि जिन्हें पहले से इनस्टॉल किया गया है उन पर भी लागू होता है। पहले से डाउन लोड ऐप्स को का यूजर्स उपयोग नहीं कर पाएगा क्योंकि उनके सभी खाते निष्क्रिय हो जाएंगें। हालंकि कुछ ऐप्स पर प्रतिबंध लगने में थोड़ा समय लग सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *