मिल गया Corona का इलाज, भारत की इस कंपनी ने इजाद की बिमारी से लड़ने की वैक्सीन

Corona

Coronavirus देश में धीरे-धीरे अपने पैर पसार रहा है। coronavirus का बढ़ता खतरा देश के लिए मुसीबत बन गया है। भारत में इस महामारी से मरने वालो की संख्या 50 के पार पहुच गई है और इससे प्रभावित लोग 2500 से अधिक हो चुके हैं। मरकज से निकले जमातियों के बाद से हालत और बेकाबू हो चुके हैं। रोजाना मरीजों की संख्या घटने की बजाए बढ़ती जा रही है। ऐसी मुश्किल घड़ी में हर किसी को इस बात का इंतजार है कि कब इस महामारी से सभी को छुटकारा मिले और इसका इलाज करने वाली दवा इजात हो। 

Corona के बुरी खबरों के बीच एक अच्‍छी खबर आ रही है कि जल्द ही इस माहमारी से देश को छुटकारा मिलेगा। भारत की एक बड़ी कंपनी ने एक ऐसे टीके का इजात कर लिया है जो corona संक्रमण से लड़ने में मदद करेगा।

bharat biotech

इस समय दुनिया भर के देश इस बिमारी से झूझ रहे हैं और इस संक्रमण के आगे अपने घुटने टेक चुके हैं। वैसे तो भारत हमेशा से ही अपना लोहा मानवता रहा है, लेकिन इस बार एक बार भारत ने फिर से साबित कर दिया कि वो किसी भी बड़े संशाधनों वाले देश से पीछे नहीं है। वैसे तो भारत ने काफी हद तक इस बिमारी पर कंट्रोल पाया हुआ है और इसी बीच इस बिमारी के इलाज मिलने का दावा भी भारतीय कंपनी ने किया है। 

coronavirus

जी हाँ, भारत की एक कंपनी “Bharat Biotech” ने एक ऐसी वैक्सीन यानी टीके का इजात किया है जो कोरोना से लड़ने में मदद करेगा। ऐसा कहा जा रहा है कि कोरोना से लड़ने के लिए बनाई गई दवाई पर रिसर्च पूरी हो चुकी है और जल्द ही इस से दुनियाभर में लोगों की मदद के लिए काम में लाया जाएगा।  

Bharat Biotech कंपनी के चेयरमैन डॉ. कृष्णा ऐल्ला का कहना है कि दवाई की रिसर्च का काम पूरा हो चुका है और यह टीका संक्रमण से बचाने के लिए पूरी तरह से सफल है। इस वैक्सीन का नाम कोरो-वैक (Coro-Vac) रखा गया है। खबर यह भी है कि इस इस दवा को नाक में डालकर सामान्य फ्लू को ठीक करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। फिलहाल अमेरिका में इस वैक्सीन की जांच की जा रही है। जैसे ही अमेरिका में सुरक्षा मानकों पर मंजूरी मिल जाएगी इसे बाजार में लॉन्च कर दिया जाएगा। 

vaccine

आपको बता दें इस से पहले भी भारत में कई असरदार वैक्सीन यानी की टीकों का इजात हुआ है। जीका वायरस का पहला वैक्सीन की भारत बायोटेक ने ही इजात किया था। इसके अलावा H1N1 इंफ्लुएंजा संक्रमण का पहला टीका भी इसी कंपनी  ने बनाया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *