भारत में Corona Virus के बढ़ते मामलों को लेकर एक्सपर्ट ने दी अपनी राय; Spike Super Spreader बताई असली वजह

Corona Virus

पिछले कुछ दिनों से भारत में Corona Virus के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने इस बारे में चिंता जताई है। अब सवाल यह उठता है कि क्यों इसे SARS-COV-2 के एक नए संस्करण से जोड़ने की बात हो रही है? 

क्या सच में ऐसा कुछ है तो इस पर  विशेषज्ञों ने सिद्धांतों को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ होने का फिलहाल कोई सबूत नहीं है। एक्सपर्ट ने बताया कि वायरस हर समय उत्परिवर्तित होते हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, पंजाब, केरल, छत्तीसगढ़ और कर्नाटक राज्यों में मामलों की संख्या बढ़ने की वजह Spike Super Spreader है।

पिछले कुछ महीनों से लोग Corona Virus को लेकर काफी लापरवाह दिखाई दिए हैं। लोगों ने मास्क पहनना, सेनिटाइजर का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग कर कर दी है। बढ़ते मामलों का कारण कोरोना को लेकर लापरवाह होना, टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रैसिंग में कमी होना है।

एक विशेषज्ञ का कहना है कि भारत में Corona Virus के बढ़ते मामलों को स्पाइक को सुपर स्प्रेडर घटनाओं से जोड़ा जा सकता है लेकिन इसे वायरस के उत्परिवर्तनसे हम नहीं जोड़ सकते।

कर्नाटक सरकार के SARS-CoV-2 के जीनोमिक पुष्टिकरण के लिए NIMHAN में न्यूरोबायोलॉजी के सेवानिवृत्त प्रोफेसर और नोडल अधिकारी डॉ. वी. रवि ने कहा कि भारत में कोरोनोवायरस के मामलों में वृद्धि सुपर स्प्रेडर घटनाओं का फैलाव और फिर ट्रैकिंग की कमी, परीक्षण का अभाव है।

Spike Super Spreader

Corona Virusके नए वेरिएंट पर टीके की प्रभावकारिता पर विशेषज्ञों से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि कोरोना के लिए निकाली गई वैक्सीन वेरिएंट पर प्रभावी नहीं होगी।

भारत में पिछले कुछ दिनों में कोरोनोवायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र, के साथ साथ पंजाब, केरल, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु मेंभी मामला गंभीर बना हुआ है जिसके चलते वहां की राज्य सरकार ने कुछ स्थानों पर लॉकडाउन भी लगाया है। 

मामलों में तेजी से बढ़ोतरी को देखते हुए गृह मंत्रालय ने कहा कि मौजूदा स्तिथि को देखते हुए COVID -19 के लिए जारी किए गए दिशानिर्देश 31 मार्च तक लागू रहेंगे। एक बयान में, गृह मंत्रालय ने कहा, हालांकि मामलों में गिरावट दखी गई है लेकिन अभी भी पूरी तरह से महामारी को दूर करने के लिए हमें सावधानी बरतने की जरुरत है।

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी लक्ष्य आबादी के टीकाकरण में तेजी लाने की सलाह दी गई है ताकि ट्रांसमिशन की श्रृंखला को तोड़ने और महामारी को दूर किया जा सके।
पिछले 24 घंटे में Corona Virus के 16,488 नए मामले सामने आए हैं, जिसमें से 113 लोगों की मौत हो चकी है। भारत में अब तक कोरोना के 1,10,79,979 मामले सामने आ चुके हैं।  इसमें से  1,07,63,451 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं और 1,59,590 ऐक्टिव केस हैं। भारत में Corona Virus की वजह से 1,56,938 लोगों की जान जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *