Vijay Mallya ने tweet कर कह दी यह बात – सारा पैसा लौटा दूंगा

Vijay-Mallya

शराब कारोबारी Vijay Mallya एक बार फिर से सोशल मीडिया पर आकर सुर्खियां बटोर रहे हैं। विजय माल्या ने आज ट्वीटर पर ट्वीट कर कहा कि वो अपना सारा कर्ज लौटना चाहते हैं। उन्होंने अपने ट्ववीट के जरिए भारत सरकार से मदद मांगी है। उनके मुताबिक़ उनके कर्मचारियों को घर नहीं नहीं भेज रहे हैं। भारत में अभी corona  संकट के चलते Lockdown है, जिसके कारण बहुत ही समस्याएं आ रही हैं। विजय माल्या का कहना है कि Lockdown के माहौल में बैंक और प्रवर्तन निदेशालय कोई भी मदद नहीं कर रहा है। इसलिए वो सरकार से मदद की अपेक्षा रख रहे हैं।

“भारत सरकार ने पुरे देश में lockdown किया है जो अकल्पनीय था। हम उसका सम्मान करते हैं लेकिन इस कारण से मेरी सभी कंपनियों ने प्रभावी ढंग से संचालन बंद कर दिया है। सभी manufacturing  का काम भी बंद है। फिर भी हम कर्मचारियों को घर नहीं भेज रहे हैं और इसकी कीमत चुका रहे हैं। सरकार को मदद करनी होगी।”

Vijay-Mallya-tweet-on-lockdown

Indian Government has done what was unthinkable in locking down the entire Country. We respect that. All my Companies have effectively ceased operations. All manufacturing is closed as well. Yet we are not sending employees home and paying the idle cost. Government has to help.”

इसके अलावा Vijay Mallya लिखते हैं कि इससे पहले भी मैंने भारत सरकार को कई बार पैसे वापस लौटाने की बात कही है लेकिन न बैंक पैसा लेने के लिए तैयार हैं और ना ही प्रवर्तन निदेशालय उनकी मदद के लिए आगे आया है। 

Vijay-Mallya-tweet

“I have made repeated offers to pay 100 % of the amount borrowed by KFA to the Banks. Neither are Banks willing to take money and neither is the ED willing to release their attachments which they did at the behest of the Banks. I wish the FM would listen in this time of crisis.”

Vijay Mallya जो भारत से केस दर्ज होने के बाद देश छोड़ कर भाग गए थे, हमेशा से इस तरह के वादे करते आएं हैं। वो हमेशा कहते हैं कि वो भारत लौटना चाहते हैं हैं लेकिन असल में वो खुद भारत ही भारत आने को तैयार नहीं है। 

आपको बता दें कि पिछले महीने ही सुप्रीम कोर्ट ने शराब कारोबारी Vijay Mallya की याचिका को स्थगित कर दिया था जिसमें प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा शुरू की गई कार्यवाही पर रोक लगाने और उन्हें भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और 9,000 Caror रुपये की संपत्ति जब्त करने की मांग की।

हालाँकि, इस मामले की सुनवाई मार्च में अदालत की होली के बाद होने वाली थी। 63 वर्षीय धनी व्यवसायी मार्च 2016 में भारत से बाहर चले गए थे और तब से United Kingdom में रह रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *